महामाया शक्तिपीठ I sanskritikchhattisgarh.in

महामाया शक्तिपीठ – रतनपुर , बिलासपुर

mahamaya शक्तिपीठ छत्तीसगढ़ में देवियां अनेक रूपों में विराजमान हैं। छत्तीसगढ़ में अनादि काल से शिवोपासना के साथ साथ देवी उपासना भी प्रचलित थी।  यहां के सामंतो, राजा-महाराजाओं, जमींदारों आदि की कुलदेवी के रूप में प्रतिष्ठित आज श्रद्धा के केंद्र…

Read More
Cher Chera

छेरछेरा : अन्न दान का महापर्व

अन्न दान का महापर्व छेरछेरा छत्तीसगढ़ में यह पर्व नई फसल के खलिहान से घर आ जाने के बाद मनाया जाता है। इस दौरान लोग घर-घर जाकर लोग अन्न का दान माँगते हैं। वहीं गाँव के युवक घर-घर जाकर डंडा…

Read More
SanskritikChhattisgarh

छत्तीसगढ़ : एक ऐसा गढ़, जहाँ लोकगीतों, लोककथाओं और लोक नाचाओ की भरमार है।

छत्तीसगढ़ में राउत नाचा एक ऐसा लोक नाचा है , जो लोक नाचा और लोकगीत का समिश्रण है जो आज भी गांवों में जीवंत है। राउत नाचा समाज के एक विशेष वर्ग जिसे राउत, रावत ,यादव ,  ठेठवार, यदु आदि…

Read More
Festival | Sanskritik Chhattisgarh

Hariyali Teej Festival

Hariyali Teej Festival One of the most important Teej out of three, Hariyali Teej and Kajari Teej, this festival is celebrated mainly by married women in the north Indian region of the country. According to the mythology, goddess Parvati’s father…

Read More